कोरोना के दूसरे लहर से जिले में बुधवार को एक की मौत 29 पाजिटिव, 154 अमीमांसित, बीते 48 घंटों में जिले से कुल 41 लोग कोरोना की चपेट में जिसमें से खड़गपुर के 9 लोग, मलिंचा, इंदा, कलाईकुंडा सहित रेल महकमे में भी कोरोना पीड़ित पाए गए

1191
Advertisement
Advertisement
Advertisement

✍रघुनाथ प्रसाद साहू

खड़गपुर। कोरोना के दूसरे लहर से जिले में बुधवार को 36 वर्षीय युवक की मेदिनीपुर मेडिकल कालेज में मौत की खबर है जबकि 29  लोग पाजिटिव पाए गए हं जिले में कुल 154 अमीमांसित है। वैसे बीते 48 घंटों में जिले से कुल 41 लोग कोरोना की चपेट में जिसमें से खड़गपुर के 9 लोग, मलिंचा, इंदा, कलाईकुंडा सहित रेल महकमे में भी कोरोना पीड़ित पाए गए हैं जो कि चिंता का कारण है। ज्ञात हो कि मेदिनीपुर मेडिकल कालेज में कोरोना पाजिटिव पाए गए मृत युवक को बीते दिनों से शुरु हुए कोरोना के दूसरे लहर की पहली मौत कहा जा सकता है। बुधवार को रेल अस्पताल से भेजे गए कुल  चार लोग पाजिटिव है जिसमें 36 वर्षीय रेल के बिजली विभाग के हेल्पर के अलावा 37 वर्षीय मेकानिकल विभाग में कार्यरत टेकनिशियन है इसके अलावा रेल से जुड़े 48 वर्षीय मां व 24 वर्षीय बेटे भी शामिल है। इसके अलावा रबिंद्रपल्ली इलाके के रहने वाली 45 वर्षीय महिला भी है महिला ने आईआईटी के बीसीराय अस्पताल में सैंपल दिया था। इसके अलावा खड़गपुर शहर के मलिंचा के रहने वाले तीन वर्षीय शिशु के अलावा 52 वर्षीय अधेड़ भी पीड़ित हुआ है इसके अलावा इंदा के रहने वाले 45 वर्षीय व्यक्ति भी पीड़ित है। इसके अलावा डेबरा से कुल तीन, बेलदा से दो, खीरपाई से एक घाटाल से एक सबंग से एक व शालबनी से तीन लोग पीड़ित हुए हैं।

जबकि मंगलवार को जो 11 लोग जिले से पीड़ित हुए थे उसमें से एक कलाईकुंड़ा के हैं। इधर जिले से कुल 154 मामले इनकंक्लुसिव है यानि गुरुवार को भी अच्छी खबर आने की गुंजाईश नहीं है। 154 इंक्क्लुसिव में से सर्वाधिक दासुपर दो ब्लाक के सोनाखाली से 51 लोग है. ज्ञात हो कि उक्त इलाके में बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर रहते हैं व बीते साल भी घाटाल महकमे से बड़ी संख्या में लोग पीड़ित हुए थे।

 

अनिर्णित में खड़गपुर से भी कुल 27 लोग है जिसमें से 10 रेल अस्पताल, 12 आईआईटी अस्पताल व 15 चांदमारी के भेजे गए सैंपल है। इसके अलावा 16 पिंग्ला, 15 कुईकाटा, दासपुर के 6, घाटाल के 15 गढ़बेत्ता के 4 गढ़बेत्ता दो ब्लाक के 5 लोग हैं। ज्ञात हो कि कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए टीकाकरण के साथ टेस्टिंग की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है जिसके कारण बड़ी संख्या में कोरोना रोगी मिले रहे हैं। अगर कोविड-19 मानकों की उपेक्षा जारी रही तो स्थिति भयावह होते देर नहीं लगेगी।

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com