शैलेंद्र सहित अन्य नियुक्ति को लेकर उठे विवाद खत्म होनी चाहिएः तपन सेनगुप्ता, तपन सेनगुप्ता को आईएनटीटीयूसी का जिला उपाध्यक्ष बनने पर किया गया सम्मानित

466
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

रघुनाथ प्रसाद साहू/9434243363

खड़गपुर। तपन सेनगुप्ता को जिलाउपाध्यक्ष बनने पर सोमवार की शाम गोलबाजार स्थित पार्टी कार्यालय में  सम्मानित किया गया इस अवसर पर वार्ड पांच के पार्षद फिदा हुसैन, वार्ड 12 के सी एच विष्णुप्रसाद व 21 के डी वासंती, सुशील यादव, कार्तिक, प्रीतम व अन्य उपस्थित थे। तपन सेनगुप्ता ने कहा कि उसे जो जिम्मेदारी मिली है उसे वे बेहतर ढ़ंग से निभाएंगे उन्होने कहा कि दीदी के नेतृत्व में राज्य के साथ पूरे जिले व खड़गपुर में भी औदयोगिक विकास हो रहा है। उन्होने कहा कि सिर्फ आईएनटीटीयूसी ही श्रमिकों के हितों की रक्षा कर सकती है। उन्होने कार्यक्रम के सफल आय़ोजन के लिए सुनील सोनकर उर्फ बच्चा की प्रशंसा की।

शैलेंद्र सहित अन्य नियुक्ति को लेकर उठे विवाद को खत्म करने की दी सलाह
दीपेंदु ने लगाया था पार्टी के पुराने कार्यकर्तांओं पर उपेक्षा का आरोप, दीदी के बयान को किया था कटाक्ष, फिदा को लेकर अनीस ने दीपेंदु को दिया जवाब

तपन सेनगुप्ता ने kgpnews से बात करते हुए शैलेंद्र सिंह सहित अन्य लोगों के चयन को लेकर उठे विवाद को तुरंत समाप्त करने की सलाह दी। ज्ञात हो कि तपन के अलावा आईएनटीटीयूसी के 35 सदस्यीय जिला कमेटि में खड़गपुर शहर से चार अन्य लोगों को मौका मिला जिसमें पार्षद अपूर्व घोष को उपाध्यक्ष, शैलेंद्र सिंह, अमित पांडे व रुपेश बसु को महासिचव व संजय लाल को बतौर सदस्य बनाया गया है। कमेटि की घोषणा के बाद ही टीएमसी के शहराध्यक्ष दीपेंदु

पाल ने नाराजगी व्यक्त करते हुए ममता के उस बयान को ही आड़े हाथों ले लिया जिसमें उन्होने कहा था आमी नोय आमरा समझ कर सब मिल जुल कर काम करें ष पाल ने कहा कि जो कार्यकर्ता आईएनटीटीयूसी के लिए जी जान लगा कर काम किया उनलोगों की उपेक्षा की गई व दूसरे दल से आए लोगों को तरजीह दी गई उन्होने नाम लेकर भाजपा से आए शैलेंद्र सिंह व संजय लाल की नियुक्ति पर आपत्ति उठाई।

इधर शैलेंद्र सिह के बचाव में पूर्व चेयरमैन एम ए रहमान के पुत्र व पूर्व पार्षद नफीसा खातून के पति मो अनीस रहमान ने दीपेंदु पाल पर ही सवाल दाग दिया उन्होने सोशल मीडिया में पोस्ट किया कि शैलेंद्र को तो चेयरमैन प्रदीप सरकार व सोहम चक्रवर्ती ने गोलबाजार राममंदिर में पार्टी में ज्वाइन कराया था पर वार्ड पांच के पार्षद फिदा हुसैन किस दल के हैं। ममता बनर्जी की मीटिंग में फिदा को किसने बैज उपलब्ध करवाया व ममता की मीटिंग में शामिल करवाया। रहमान के इस पोस्ट के बाद विवाद ने और ज्यादा तूल पकड़ा उक्त मुद्दे पर प्रतिक्रिया देते हुए तपन सेनगुप्ता ने माना कि नेतृत्व में कुछ असमंजस की स्थित बनी है उन्होने उम्मीद जताया कि मामले को जल्द ही सुलझा लिया जाएगा। ज्ञात हो कि फिदा हुसैन ने मो अनीस के भाई मो आरिफ को बीते नगरपालिका चुनाव में पराजित किया था आऱिफ टीएमसी की टिकट पर चुनाव लड़े थे जबकि फिदा ने पार्टी की टिकट ना मिलने पर पार्ट प्रत्याशी आऱिफ को हरा दिया था फिदा चुनाव में भी खुद को टीएमसी का सिपाही बता रहा था व चुनाव जीतने के बाद भी पार्टी नेताओं के कई कार्यक्रम में दिखे। दरअसल पार्टी सिंबल के खिलाफ बगावत कर लड़ने वालों को फिलहाल मुख्यमंत्री ने तुरंत पार्टी में लेने से इंकार कर दिया है जिसके कारण वार्ड पांच के पार्षद फिदा के पार्टी नेताओं के संबंध विवादित रहे हैं। अब देखना है कि मामला क्या गुल खिलाती है।

इधर खरीदा स्थित टीएमसी कार्यालय में देबाशीष चौधरी ने आइएनटीटीयूसी के नवनियुक्त  महासचिव अपूर्व घोष व संजय लाल को सम्मानित किया।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com