पिटाई से अधेड़ की मौत का आरोप, रहस्यमय बना हुआ है बाप बेटी की मौत का मामला

215
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

पश्चिम मेदिनीपुर के आकडा बसंतपुर में एक अधेड़ आयु के व्यक्ति की शव बरामद हुई है .इसे लेकर इलाके में सनसनी है . शव कच्ची दारु के ठेके के करीब बरामद हुई है जिस्म पर चोट और जख्म के निशान हैं . शनिवार रात खड़गपुर ग्रामीण थाना पुलिस शव को बरामद कर खड़गपुर महकमा अस्पताल में अंत्यपरीक्षण के लिए ले गई . पुलिस से मिली जानकारी अनुसार व्यक्ति का नाम सुकदेव घोड़ाई है व वह उसी गांव का स्थानीय निवासी है . उसी गांव के वासी टोटो चालक गौतम से सुकदेव की किसी बात पर जोरदार कहासुनी हो गई थी उस समय गौतम और उसके लडके ने सुकदेव को बहुत मारा था . सुकदेव की पत्नी के बयान अनुसार वे लोग सिर्फ वहीं नही बाद में गर पर आकर भी गौतम और उसका बेटा राहुल लाठी और रॉड से पीटा था साथ ही बाहर मिलने पर जान से मार देने की धमकी भी दी थी और जब सुकदेव दवा लेने गया और नही लौटा उसकी मृत शव ही बरामद हुई . पडोसियों के अनुसार सुकदेव का गौतम के साथ पुरानी रंजिश थी . गौतम सुकदेव की पत्नी को कुप्रस्ताव दिया था जो उसकी पत्नी सुकदेव को बताई थी . सुकदेव की पत्नी कल्पना सुकदेव का हत्यारा गौतम और उसके बेटे राहुल को ही ठहराती हेै और कठोर सजा की मांग की है .

 

बालीचक स्टेशन से लगे हामिरपुर के करीब झुट-पुटे अंधेरे में शाम 7 के आसपास धारदार हथियार से एक युवा लडकी पर जानलेवा हमला और संग चल रहे बुजुर्ग पिता का चलती ट्रेन से कट कर मारा जाना एक साथ घटी यह घटना असमंजस की स्थिति पैदा कर दी है . कयास है अन्य दिन की तरह ही पिता पुत्री सायंकलीन भ्रमण करते हुए ही स्टेशन के पास पहुंचे और दोनों साथ -साथ रेल लाईन के पास से चल रहे थे और पिता कुछ कदम पीछे रह गए फिर अचानक लडकी ने देखा कोई उनके पिता के ही कद-काठी का व्यक्ति मुंह पर मास्क लगाए धारदार हथियार से निरंतर जानलेवा वार कर रहा है . अंधेरे में वह ठीक से पहचान नही पाई साथ ही खुद को बचाने की जद्दोजहद में लहूलुहान होकर अचेत हो गिर पडी और उधर कुछ ही दूर पर उसके पिता ट्रेन से कटकर क्षत-विक्षत हो गए . इस हालत में रेल पुलिस का कयास है हो सकता है पिता ने ही अपनी बेटी की हत्या कर खुद आत्महत्या की हो क्योंकि सूत्रों के सूचना अनुसार पिता मनोरोग से भी ग्रसित थे . बहरहाल लडकी एम. ए. की छात्रा थी बुजुर्ग पिता भी गणित के शिक्षक थे याने एक पढी-लिखी शिक्षित परिवार बेशक इनदिनों आर्थिक तंगी के शिकार थे . नतीजतन बुजुर्ग पिता कुछ-कुछ मनोरोगी सा भी हो चले थे .मगर जो घटना घटी है वह किसी सस्पेंस थ्रिलर की कहानी सी लगती है जिसका असल वजह अब तक के पडताल में सामने नही आ पाई है . पडोसियों के बयान अनुसार बजुर्ग कमल सेन सेनपाडा के वासी थे वे प्रायः अपनी 20 वर्षीय बेटी देवयानी  के साथ सायंकालीन भ्रमण में निकला करते थे परंतु शुक्रवार शाम की वह अप्रत्याशित घटना पूरी तरह संशय के घेरे में है देवयानी का फिलहाल सरकारी अस्पताल में उपचार चल रहा है .

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com