फैजान का अंत्य परीक्षण के बाद शव लेकर परिजन रवाना, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

280
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

” हमारे बेटे को जलाया गया है.उसे कुत्ते-बिल्ली की तरह जला कर मार डाला गया. 6 -7 दिन पुराने लाश को 2 दिन पहले का कहा जा रहा है” यह कहते हुए मृत मेधावी छात्र के पिता सलीम अहमद शनिवार की शाम मेदिनीपुर मेडिकल कॉलेज के मॉर्ग के सामने खडे़ होकr  आरोप लगाया . मां रेहाना अहमद व मौसी सलमा अहमद का भी रो-रो कर बुरा हाल है और संभाले नही संभल रही हैं . फैजान किसी हालत में आत्महत्या नही कर सकता उन सब गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि वे सब फैजान की मौत सहज भाव से मान नही पा रहे हैं . पिता शलीम अहमद का कहना है : ” हमें इंसाफ चाहिए . हमारे बेटे का खून हुआ है उसे जला दिया गया है . हमें जो शव दिखाया गया वो हमारे बेटे का नही है ! एकदम हृष्टपुष्ट एक देह दिखाया गया है , मुखाकृति भी सर्वथा भिन्न है . वह हमारा लडका हो ही नही सकता . उसे जला दिया गया है. ” यह कहते हुए मृत फैजान की मां रेहाना अहमद गश खा गिर पडी एवं मौसी सलमा अहमद तो अचेत ही हो गई फिर उन्हें अस्पताल में इलाज कराया गया  मेडिकल कॉलेज में उत्तेजना छाई रही . परिजनों ने  आईआईटी व मेडिकल कॉलेज प्रबंधन पर असहयोग का भी आरोप लगाया।


मालूम हो आईआईटी खड़गपुर के लाला लाजपतराय हॉस्टल से मेकेनिकल इंजीनियरिंग के तृतीया वर्ष का छात्र की लाश सड़ी-गली हालत मे मिली थी जिसे कैंपस में स्थित फांडी की पुलिस पहुंच कर लाश का पंचनामा कर अंत्यपरीक्षण के लिए महकमा अस्पताल भेजी जहां से फिर मेदिनीपुर मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया यहां वीडियोग्राफी के साथ अन्त्य परीक्षण कराया गया । आईआईटी  टीओपी थाना प्रभारी समर लायक ने बताया कि अंत्य परीक्षण के बाद शव को परिजनों को अंत्येष्टि के लिए  सौंप दिया गया। लायक ने बताया कि यूडी केस दर्ज कर मामले की जांच चल रही है। ज्ञात होहग कि परिजन की ओर से कोई लिखित शिकायत दर्ज नहीं कराया गया।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com