पुरी हाव़ड़ा वंदे भारत जाजपुर- भद्रक सेक्शन के बीच क्षतिग्रस्त, सोमवार को हावड़ा-पुरी अप व डाउन दोनों रहेगी रद्द, हावड़ा- पुरी ट्रेन की भी टूटी कपलिंग

229
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

खड़गपुर, ट्रेन संख्या 22896 (पुरी हावड़ा वंदे भारत) खराब मौसम के बीच तूफान व बारिश के कारण पेड़ की शाखा इंजन में गिरने के बाद शाम 16.30 बजे से ईस्ट कोस्ट रेलवे के बैतरिणी और मंजुरी रोड स्टेशनों के बीच KM 318/16 पर रुकी रही। जिसके बाद यात्री भयभीत हो गए। रेल प्रशासन का कहना है कि प्राकृतिक आपदा के कारण ट्रेन का पैंटोग्राफ क्षतिग्रस्त हो गया।

हालांकि रेलवे की टीम तकनीकी खराबी को दूर करने के लिए ट्रेन को डीजल इंजन से बैतरणी स्टेशन में लाया गया व मरम्मत कर हावड़ा के लिए रवाना किया गया। दपूरेलवे के सीपीआरओ आदित्य कुमार चौधरी का कहना है कि ट्रेन में फंसे यात्रियों के लिए खाने के पैकेट और पानी की व्यवस्था की गई. ट्रेन के अंदर बिजली बहाल कर जांच के बाद ट्रेन रात 8.20 पर रवाना की गई जो कि खड़गपुर लगभग पौने छह घंटे लेट शाम 6.42 के बजाय 12.27 में पहुंची वह 6 घंटे लेट देर रात  2:30 बजे हावड़ा पहुंची।

12837 डाउन हावड़ा-पूरी सुपरफास्ट एक्सप्रेस का कपलिंग टूटने से यात्रियों में दहशत

हावड़ा- पुरी एक्सप्रेस के कपलिंग खड़गपुर व बालासोर के बीच नेकुड़सेनी स्टेशन के समीप टूट जाने से इंजन व दो बोगी आगे निकल गई जबकि बाकी बोगीयां घटनास्थल मे ही रह गई जिससे ट्रेन में मौजूद यात्रियों में दहशत फैल गया और बड़ा हासदा टल गया. ज्ञात हो कि शनिवार देर रात  लगभग सवा एक बजे नेकुड़सनी स्टेशन के पास उक्त घठना घटी।

स्थानीय रेल अधिकारी कर्मी घटना स्थल पर पहुँचे व यात्रियों को भरोसा दिलाया। बाद में ट्रेन में दो नये बोगियों को जोड़ा गया व लगभग पांच घंटे के बाद ट्रेन को दोबारा रवाना किया गया. रेल प्रशासन के अनुसार मामले की जांच के लिये जांच कमेटी का गठन कर दिया गया। बाद में ट्रेन को रवाना किया गया ट्रेन रात पौने दो बजे बालासोर पहुंचने की जगह 5.30 में पहुंची जबकि पुरी पांच घंटे लेट सुबह 7 बजे के बजाय दोपहर 1 बजे पहुंची।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com