खड़गपुर में जुटेंगी देश भर की 400 महिलाएं, होगी महिलाओं के हितों की बातः एनी राजा 

1480
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

खड़गपुर। देश भर की लगभग 400 महिलाएं 8 दिसंबर को कामरेड गीता मुखर्जी नगर (खड़गपुर) में जुटेगी जहां तीन दिनों तक सीपीआई की महिला विंग नेशनल फेडरेशन आफ इंडियन वूमेन (NFIW) का 27 वां राष्ट्रीय सम्मेलन होगा।

काम. विद्यामुंशी मंच (प्रजापति घर) में तीन दिनों तक महिलाओं के हितों की बात होगी इसके लिए जोरदार तैयारी शुरु कर दी गई। तैयारी का जायजा लेने एनएफआईआर की राष्ट्रीय महासचिव एनी राजा खड़गपरु पहुंची थी इस दौरान बोगदा में एटक कार्यालय में आयोजित पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए एनी राजा( सीपीआई के राष्ट्रीय महासचिव डी राजा की अर्धांगिनी) ने कहा कि केंद्र सरकार की अदूरदर्शिता के कारण महिलाओं की स्थिति दूभर हुई है।

पहले गैस के दाम बढञा दिए गए अब चुनाव को देखते हुए कम किए जा रहे हैं। उन्होने कहा कि भाजपा शासित राज्यों में महिलाओं की स्थिति दयनीय है। मणिपुर में दोषियों को सजा देने के बजाय मोदी सरकार वीडियो लीक कैसे हुई इसकी चिंता कर रही थी संसद में मणिपुर पर बयान देने के बजाय इधर उधर की बातें करते रहे। अब महिलाओं को महिला आऱक्षण का झुनझुना पकड़ा रही है जबकि इसे लागू करने के उपाय नहीं किए गए। बंगाल में भी महिलाओं पर हो रहे अत्याचार के बारे में कहा कि महिलाओं पर नृशंसता चिंताजनक है चाहे यह वामपंथी राज्य में ही क्यों ना हो हम सभी घटनाओ की निंदा करते हैं। फेडरेशन के राष्ट्रीय सेक्रेटरिअट मेंबर के सदस्य अऱणा सिन्हा ने आरोप लगाया कि मीडिया भी महिलाओं को लेकर मोदी से सवाल पूछ नहीं पाई है।

कामदूनी पर हाईकोर्ट के फैसले जिसमें आरोपियों की सजा कम कर दी गई या आरोपियों को रिहा कर दिया गया इस पर राज्य सचिव श्यामा श्रीदास ने कहा कि राजनीतिक हस्तक्षेप के कारण पीड़ित परिवारों को न्याय नहीं मिला उन्होने कहा कि न्यायालय में अगर राजनीतिक हस्तक्षेप बढ़ा तो यह दबे कुचले लोगों के साथ नाइंसाफी होगा।इस अवसर पर फेडरेशन के प्रदेश सचिव तारा दे भी उपस्थित थी।

बंगाल, त्रिपुरा व केरल में हम सीट समझौता नहीं करेंगेः विल्पव भट्टाचार्य़ 

एऩएफआईआर के 27वां राष्ट्रीय सम्मेलन के स्वागत समिति के सभापति व सीपीआई के राज्य सचिव मंडल के सचिव विपल्व भट्ट ने कहा कि हम इंडिया में जरुर है पर बंगाल, त्रिपुरा व केरल में वामपंथी लोकसभा चुनाव अकेले लड़ेगी। बंगाल में अत्याचारी टीएमसी के साथ समझौता नामुमकिन है हांलाकि बंगाल में कांग्रेस के साथ समझौता के रास्ते खुले हैं पर केरल में हम कांग्रेस के खिलाफ लड़ेंगे उन्होने कहा कि बाकी राज्यों में सीट शेयरिंग क लेकर रणनीति राष्ट्रीय स्तर पर बनाई जा रही है।

ज्ञात हो कि मेदिनीपुर लोकसभी सीट से सीपीआई उम्मीदवार देती आई है। विप्लव ने कहा कि हर दो साल में होने वाले सम्मेलन के लिए इस बार बंगाल को मौका मिलने पर राज्य कमेटि ने पश्चिम मेदिनीपुर जिले को मौका दिया जिसके बाद जिला कमेटि ने खड़गपुर में सम्मलेन कराने का निर्णय लिया। उन्होने आशा जताया कि सम्मेलन सफल होगा। व यहां के वामपंथी कार्यकर्ता प्रेरित होंगे।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com