एनसीसी कैंप में स्कुली बच्चों ने सीखे हथियार चलाने, मैप रीडिंग के गुर हिजली हाई स्कुल में लगे कैंप में 400 बच्चों को दिया गया प्रशिक्षण, प्रमाणपत्र 

524
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

खड़गपुर, एनसीसी कैंप में स्कुली बच्चों ने हथियार चलाने, मैप रीडिंग, सिमुलेटर फायरिंग, ड्रिल सहित आर्मी रिलेटेड अन्य चीजें सीखे। ज्ञात हो कि हिजली हाई स्कुल में 1 नवंबर से 10 नवंबर तक कैंप लगाया गया था जिसमें लगभग 400 माध्यमिक स्तर के बच्चों ने भाग लिया जिसमें 200 ब्वायज व 130 गर्ल्स थी। कैंप के आखिर में बच्चों को प्रमाणपत्र लेफ्टिनेंट कर्नल पी.सी झा के हाथों दिया गया।

 

सीनियर डिवीजन सीयर में एसयूओ स्नानील दीप माईति व सीनियर विंग सीनियर जेयूओ संगीता सिंह को मिला। कार्य़क्रम का एंकरिंग कैडेट स्मृति नायक व कैडेट हंसिका मालेक ने किया। केजीपी न्यूज से बात करते हुए कर्नल ए एस पुरी ने कहा कि एनसीसी बच्चों में डिसीप्लीन व युनिटि की भावना भरती है ड्रेसेज से बच्चों के मन में देश व समाज के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा बढ़ता है.

 

उन्होने कहा कि एनसीसी में ए, बी व सी लेवल के सर्टिफिकेट होते हैं व सी लेवल के सर्टिफिकेट होने पर फोर्स के कई प्रतियोगी परीक्षाओं में बच्चों को लिखित परीक्षा नहीं देनी होती वे लोग सीधे इंटरव्यू के लिए क्वालिफाई होते हैं। इसलिए सेना में जाने का लक्ष्य रखने वाले बच्चों के लिए एनसीसी काफई उपयोगी है।

 

सूबेदार भूपराज ने बताया कि एनसीसी के खड़गपुर ग्रुप के 25 बटालियन की ओर से कैंप का आयोजन किया गया था साल भर में वे लोग 4 से 5 कैंप आयोजित करते हैं। इस कैंप में खड़गपुर, झाड़ग्राम, कापगाड़ी व आसपास के स्कुलों के नौंवी व दसवीं कक्षा के बच्चों ने हिस्सा लिया।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com