दुर्गा पूजा कमेटियों को मिलेगा 50 हजार रुपए का अनुदान, फेरीवालों को दो हजार रु मिलेंगे, आशा कर्मियों व सिविक पुलिस वालंटियर के वेतन में 1000 की बढ़ोत्तरी, नहीं होगा पूजा कार्निवल

203

खड़गपुर। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दुर्गा पूजा को लेकर गुरुवार को कोलकाता के नेताजी इनडोर स्टेडियम में प्रमुख पूजा कमेटियों के साथ हुए बैठक में मुख्यमंत्री ने कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच अगले माह होने जा रही दुर्गा पूजा को लेकर कई सारे नियम भी साझा किए ममता ने कहा कि राज्य सरकार इस साल सभी रजिस्टर्ड दुर्गा पूजा कमेटियों को 50-50 हजार रुपये बतौर अनुदान देगी 37,000 पूजा कमेटियों को इसका लाभ होगा। इसके साथ ही उन्होंने 80,000 फेरी वालों को दुर्गा पूजा से पहले 2,000 रुपये की एकमुश्त अनुदान राशि देने की घोषणा की, ताकि वे लोग ठीक से पूजा मना सकें। ममता ने कहा कि नए नियमों के मुताबिक इस साल दुर्गा पूजा पंडाल व उसके आसपास किसी भी तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम की अनुमति नहीं होगी। इसके अलावा पंडाल को चारों तरफ से खुला रखना होगा। पंडाल के एंट्री में सेनिटाइजर रखना होगा व वोलिंटिअर सभी के लिए मास्क पहनना भी अनिवार्य होगा व सामाजिक दूरी के नियमों को मानना होगा। ममता ने कहा कि कोरोना के चलते पूजा कमेटियों को स्पॉन्सर ठीक से नहीं मिलने के कारण राज्य सरकार प्रत्येक कमेटी को 50,000 रुपये का अनुदान देने का फैसला किया है।ज्ञात हो कि पिछले साल राज्य सरकार ने पूजा कमेटियों को 25 हजार करके अनुदान दिया था। इस बार पूजा कमेटियों से दमकल और नगर निगम एवं पंचायत का कोई शुल्क नहीं ली जाएगी जबकि  पूजा कमेटियों को विद्युत बिल में 50 फीसद की छूट मिलेगी। पूजा का परमिशन भी इस बार ऑनलाइन मिलेगा और 2 अक्टूबर से इसकी शुरुआत होगी। मुख्यमंत्री ने महामारी में बेहतर काम करने से खुश हो आशा कार्यकर्ताओं, सिविक पुलिस वालंटियर (ग्रीन पुलिस) कर्मियों के वेतन में 1,000 रुपये की बढ़ोतरी की भी घोषणा की। आगामी एक अक्टूबर से ही उन्हें इसका लाभ मिलेगा। इसके साथ ही आइसीडीएस कर्मियों को रिटायरमेंट होने पर एकमुश्त तीन लाख देने की भी घोषणा की। ममता ने कहा कि कोरोना के कोलकाता में पूजा कार्निवाल नहीं होगा।

Advertisement

Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com