पश्चिम मेदिनीपुर जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बीते 24 घंटे में 87 जबकि 6 लोगों की मौत, डीजल पीओएच कारखाना में कार्यरत कर्मी की कोरोना से मौत,रेलवे प्रशासन को आउटटर्न की चिंता छोड़कर कर्मचारियों के जीवन की चिंता करने की आवश्यकता: डीपीआरएमएस

2067
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर, डीजल पीओएच कारखाना में कार्यरत शिव प्रसाद सिंह, तकनीशियन की कोरोना से रविवार को खड़गपुर के रेलवे मेन अस्पताल में देहांत हो गया। वे कुछ दिनों से बुखार से पीड़ित थे, लेकिन रविवार दोपहर को तबियत अधिक खराब होने के कारण उन्हें रेलवे मेन अस्पताल में भर्ती कराया गया और रविवार को सांयकाल में उनकी मृत्यु हो गयी। कोरोना की दूसरी लहर लगातार तेजी से पांव पसार रही है।

महानगरों का हाल किसी से छुपा नहीं है लेकिन अब छोटे शहर भी इससे अछूते नहीं है। छोटे शहरों में कोरोना का रूप विकराल होता जा रहा है। रेलवे कर्मचारी भी लगातार कोरोना रोग से ग्रसित हो रहे हैं। पश्चिम मेदिनीपुर जिले कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बीते 24 घंटे में 87 हो  चुकी है जबकि 6 लोगों की मौत हो गयी है। दक्षिण पूर्व रेलवे मजदूर संघ के खड़गपुर कारखाना इकाई के कारखाना सह-सचिव मनीष चंद्र झा ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि रेलवे प्रशासन को कोरोना के दूसरी लहर को रोकने के लिए व्यापक कदम उठाने की आवश्यकता है। रेलवे बोर्ड द्वारा निर्देशित

गाइडलाइन को कार्यान्वित करने की आवश्यकता है एवं 50% कर्मचारियों को लेकर कार्य करने की आवश्यकता है। आउटटर्न की चिंता छोड़कर कर्मचारियों के जीवन की चिंता करने की आवश्यकता है। आउटटर्न आज नहीं तो कल हो जाएगा, लेकिन कर्मचारियों की जिंदगी फिर वापस नहीं लौट सकती है। साथ ही रेलवे प्रशासन को खड़गपुर कारखाना के समस्त कर्मचारियों के लिए अविलंब वैक्सीन मुहैया कराना नितांत जरूरी है। इस संबंध में आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं मिल पाई  है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com