Advertisement
Home social जुड़वा बच्चे को ले ससुराल में धरने पर बैठी महिला, महिला का...

जुड़वा बच्चे को ले ससुराल में धरने पर बैठी महिला, महिला का ससुराल वालों पर उत्पीड़न का आरोप

21
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

जुडवा कन्या शिशु जनने के अपराध में  प्रताड़ित कर घर से बाहर रहने के आरोप महिला ने लगाया है पश्चिम मेदिनीपुर जिले के दासपुर की घटना से लोग अचंभित हैं ज्ञात हो कि
19 वर्षीय मौमिता घोड़ाई ऐसी ही दुर्भोग बीते 6 वर्षों से झेल रही हैं अपने 2 बच्चियों के साथ .

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार मौमिता अपने माता-पिता की नाजो पली इकलौती बेटी थी . रिश्ते के समय मौमिता के पिता हरेकृष्ण भौमिक को दामाद के रुप मे विद्युत घोडाई पसंद न होने के बावजूद विद्युत के मां-पिता के इसरार का मान रखते हुए उनपर भरोसा कर बेटी की विवाह कर दी . किंतु बेटी के जुडवा पुत्री को जन्म होते ही उसे ससुराल के हरेक सदस्य प्रताड़ित करने लगे अंततः घर से बाहर कर ही माने . अब हार कर बीते 6 वर्षों से मौमिता अपने दोनों शिशु कन्याओं समेत अपने पिता के घर पर है . वह इस बीच कई बार अपने ससुराल गई पर ससुराल के किसी भी सदस्य ने कभी बातचीत नही की न ही बैठने को कहा उल्टे मुंह पर दरवाजा बंद कर लिए।खबर पाकर दासपुर थाना की पुलिस महोदय के ससुराल पहुंचकर मामले में हस्तक्षेप की है

मौमिता का आरोप है कि जुड़वा बच्चे होने के बाद से ही ससुराल वाले उसे उत्पीड़न के में लगे जिसके कारण वह अक्सर मायके में रहती है वह जब कभी भी ससुराल आती है ससुरालवालों  मानसिक व शारीरिक  उत्पीड़न करते हैं ।.जहां  देवियों जैसे दुर्गा , काली पूजी जाती हैं . बेटियों को मां कह कर संबोधित किया जाता है . मौमिता के साथ की गई व्यवहार संवेदनहीनता व निर्ममता की मिसाल पेश करती है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com