धोखाधड़ी के आरोप में युवक गिरफ्तार, विकास योजनाओं की 61% फीसदी राशि खर्च ही नहीं हुई

214
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

 

पंद्रहवें अर्थ कमिशन द्वारा मंजूर किए गए फंड का केवल 39% राशि ही खर्च हुई है अभी भी 61% राशि पड़ी हुई है मंजूर की गई राशि 70% पंचातयत द्वारा 15% पंचायत समिति द्वारा एवं 15% जिला परिषद द्वारा खर्च किए जाने का पुराना तरीका पुनः शुरु हुआ है . चौदहवें अर्थ कमिशन द्वारा मंजूर विकास राशि का आवंटन सिर्फ पंचायत को ही हुआ था जिससे पंचायत समिति एवं जिला परिषद द्वारा किए जाने वाला कोई विकास कार्य नही हो पाया लेकिन इस बार मिली जानकारी मुताबिक पंद्रहवीं अर्थ कमिशन में मंजूर राशि त्रिस्तर पर खर्च किए जाने का निर्देश है .

मंजूर किए गए राशि का 60%( टाएड फंड ) स्वास्थ्य विधान प्रकल्प , शौचालय निर्माण , पानीय जल प्रकल्प व वर्षा जल संग्रह प्रकल्प में खर्च होगी एवं 40% (अनटाएड फंड) स्थानीय आवश्यकताओं के अनुसार ढांचागत विकास में निर्माण के लिए खर्च किया जा सकेगा.

सूत्रों के हवाले से मिली खबर अनुसार पंद्रहवीं अर्थ कमिशन द्वारा जिला परिषद को 85 करोड 20लाख 84 हजार 358 रुपए दी गई है .

विकास कार्यों में अब खर्च हुई है मात्र 32 करोड़ 85 लाख19 हजार 701रुपय और अब तक पडी हुई है52 करोड 35 लाख 64हजार एवं 657 रुपय इस प्रकार कुल 38.55% राशि विकास कार्यों में खर्च हुई एवं 61.45% विकास राशि अब भी बची हुई है जो आमजन की राय में प्रशासनिक सुस्ती का सबूत है .

आरोप है कि पश्चिम मेदिनीपुर जिला परिषद द्वारा किए जाने वाली विकास कार्य में स्थिलता के वजह से मुख्य मंत्री ममता बनर्जी जिले में आकर जिलाधिकारी व गडबेत्ता की विधायक उत्तरा सिंह को काफी सख़्त लहजे मे चेतावनी दी थी इसके बावजूद पंद्रहवें अर्थ कमिशन द्वारा मंजूर किए गए फंड का केवल 39% राशि ही खर्च हुई है अभी भी 61% राशि पड़ी हुई है.

धोखाधड़ी के आरोप में युवक गिरफ्तार
जनसुविधा के मद्देनजर दूरस्त ग्रामांचल में राष्ट्रीयकृत बैंक ग्राहक सेवा केंद्र चलाने की अनुमति देती है जिसकी समुचित प्रशिक्षण व परीक्षा भी हुआ करती है यह पूरी तरह से भरोसा व विश्वास से की जाने वाली सेवा है लोग भी केंद्र पर बैंक सा ही आस्था रखते हैं लेकिन पश्चिम मेदिनीपुर के सालबनी के , ऐसे ही एक केंद्र चलाने वाले युवक पर आस्था की मर्यादा तार-तार कर धोखा देने का आरोप लगा . वह एक राष्ट्रीयकृत बैंक की अनुमति से ग्राहक सेवा केंद्र चला रहा था जहां वह अल्पशिक्षित असहाय लोगों को धोखा भी दे रहा था . शनिवार शिकायत के आधार पर उसे सालबनी थाना पुलिस गिरफ्तार की . युवक का नाम कुश मंडल है . पुलिस उसे एक महिला का 1लाख 80 हजार रुपये गबन के आरोप में गिरफ्तार किया . स्थानीय लोगों का कहना है युवक ने कई लाखों का गबन किया है . सही ढंग से पड़ताल हो तो सारी सच्चाई निकल आएगी . मालूम हो सालबनी के गोदापियासाल इलाके का बासिंदा कुश मंडल गोदापियासाल बाजार में एक ग्राहक सेवा केंद्र बीते कई वर्षों से चला रहा था .

2 वर्ष पूर्व अंजली सिंग नाम की एक महिला 1लाख 80 हजार रुपये फिक्स डिपॉजिट कराने आई . युवक रुपये लेकर काम हो जाने की बात कही लेकिन चंद रोज बाद खाता अपडेट कराने पर घोटाले का खुलासा हुआ . महिला अविलंब पुलिस के शरण में गई और शिकायत दर्ज कराई . पुलिस युवक को गिरफ्तार कर मेदिनीपुर अदालत में पेश किए जहां विचारक युवक को 7 दिन की पुलिस हिरासत में भेजी है .

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com