इंदा में विवाहिता की लाश फंदे में झुलती मिली, लड़की के मायके वालों ने पति, सास व ससुर के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

221
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

खड़गपुर, इंदा कालेज के पास बस्ती इलाके से पुर्णिमा खिलाड़ी नामक 18 वर्षीय विवाहिता की लाश फांसी के फंदे में झुलती मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई। लड़की की मां कल्पना दास ने पति, सास व ससुर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है पुलिस मामले की जांच मे जुटी है।

जानकारी के अनुसार सोमवार की सुबह पुर्णिमा का शव उसके घऱ में फंदे में झुलती हुई अवस्था में मिली तो ससुराल वालों ने खड़गपुर शहर थाना में शिकायत दर्ज कराई तो पुलिस शव को बरामद कर चांदमारी में अंत्यपरीक्षण करा मायके वालों को सौंप दिया जिसके बाद पुर्णिमा का शव वर्द्धमान जिले के कालना थाना इलाके में ले जाकर अंतिम संस्कार किया गया।

पुर्णिमा के ससुर विश्वनाथ का कहना है कि घऱ में कोई झगड़ा नहीं हुआ था फिर बहू ने ऐसा क्यों किया नहीं पता पुर्णिमा ने ओढ़नी से फंदे में झुली थी घर में रात मे टेबुल व सीलिंग दोनों पंख चल रहे थे जिसमें से सीलिंग पंखे को बंद कर पुर्णिमा झुल गई सुबह पति ने शव को झुलते देखा तो लोगों को पता चला। पति षष्टी होलसेल व्यापारी का सामान दुकानों में सप्लाई का काम करता था। ससुर में काम करता है जबकि सास जयंती लोगों के घरों में काम करती है।

प्रेम विवाह हुआ था  नाबालिग पूर्णिमा का

ज्ञात हो कि षष्टी काम के सिलसिले में कालना तीन साल पहले गया था जहां पुर्णिमा से मुलाकात हुई जिसके बाद दोनों में प्रेम हुआ व नौंवी कक्षा में पढ़ रही 14 वर्षीय नाबालिग पुर्णिमा भाग कर शादी कर ली। दोनों का डेढ़ साल की एक बेटी  षष्टिका भी है। लड़की की मां कल्पना दास का कहना है कि उनलोगों को लड़की के बारे में देर से पता चला जब पता चला तब तक पुर्णिमा गर्भवती हो गई थी जिसके कारण वे लोग कानूनी सहारा ना ले शादी को मान लिए थे।

सास बहू में  अनबन का आरोप लगाया की मां ने

कल्पाना का आरोप है कि लड़की की सास जयंती उसकी बेटी को दहेज के लिए हर समय सताती थी झगड़ा करती थी व ताना मारती थी। कल्पना का कल अपनी बेटी पुर्णिमा से फोन पर बात होने पर जमाई षष्टी के लिए आमंत्रित किया गया था चूंकि पुर्णिमा की दो शादीशुदा ननद है इसलिए पुर्णिमा ने उनलोगों के मेहमाननवाजी के कारण जा पाने में असमर्थता जताई थी फिर मां बेटी में बाद में ष्ष्टी के लिए जाने पर सहमति बनी थी कल्पना को शक है कि उसी के बाद कलह होने के बाद ही उसकी बेटी को मार कर लटका दिया गया। पुर्णिमा के पिता शंभू दास निजी वाहन चलाता है उसकी अन्य बेटी की भी शादी हो चुकी है जबकि बेटा बाहर काम करता है।


इधर पुलिस का कहना है कि शिकायत मिली है व मामले की जांच जारी है। रहस्यमय मौत का मामला दर्ज किया गया है अंत्यपरीक्षण रपट का इंतजार है इधर घटना से इलाके में शोक व्याप्त है।

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com