पत्रकार की गिरफ्तारी पर पुलिस की आलोचना की अजित ने, कहा चुनाव हम पुलिस नहीं कार्यकर्ताओं के भरोसे जीतेंगे, गौतम की पुण्यतिथि पर निकला मशाल जुलुस  

587
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

खड़गपुर, पत्रकार देबमाल्य बागची की गिरफ्तारी को लेकर काफी मर्माहत व आक्रोशित दिखे पिंग्ला के टीएमसी विधायक व जिला संयोजक अजित माईति। मौका था गौतम चौबे की मलिंचा में मृत्यवार्षिकी के अवसर पर प्रतिवाद सभा का। सोमवार की शाम मलिंचा में टीएमसी की ओर से आयोजित सभा को संबोधित करते हुए अजित ने बांग्ला दैनिक आनंद बाजार पत्रिका के रिपोर्टर देबमाल्य बागची का नाम ना लेते हुए उसकी  गिरफ्तारी पर रोष जताते हुए कहा कि राज्य की मुख्यमंत्री पत्रकारों की हितैषी है उन्होने कहा कि पत्रकारों के साथ संवेदनशीलता के साथ पेश आने की जरुरत है। उन्होने कहा कि वे खुद पत्रकारों का आदर करते हैं। उन्होने कहा कि खड़गपुर की माटी प्रतिवादी माटी है यहां की विरासत व परंपरा गौरवमय है कोई इसे कलुषित करने का प्रयास करे यह उचित नहीं। उन्होने कहा कि गौतम चौबे ने माफिया राज के खिलाफ लड़ते हुए अपने प्राणों की बलि दे दी यहां टीएमसी का संग्रामी इतिहास है।

खड़गपुर अन्याय के खिलाफ लड़ाई का साक्षा रहा है। हमें अपने आत्मसम्मान को विसर्जित नहीं करना है। उन्होने कहा कि हमने कभी गलत को प्रश्रय नहीं दिया ना देंगे। अभिषेक ने भी कहा है गलत का साथ नहीं दिया जा सकता। गलत लोगों के साथ कोई समझौता नहीं हो सकता। उन्होने पुलिस की ओर इंगित करते हुए कहा कि कौन पंचायत प्रधान बनेगा या कौन क्या बनेगा यह पुलिस को देखने की जरुरत नहीं है। हम आने वाले चुनाव पुलिस नहीं बल्कि टीएमसी कार्यकर्ताओं के बदौलत लड़ेंगे व जीतेंगे। उन्होने कार्यकर्ताओं को आने वाले लोकसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ कार्यकर्ताओं को एकजुट हो आंदोलन करने का आह्वान किया। 

इस अवसर पर टीएमसी नेता देबाशीष चौधरी ने कहा कि दीदी के निर्देश के अऩुसार वे लोग हर साल गौतम की शहादत के अवसर पर प्रतिवाद करते हुए मशाल जुलुस निकालते हैं वह आगे भी रहेगा। देबाशीष चौधरी ने कहा कि आने वाले दिनों में विकास चाहिए तो भाजपा को सबक सिखाना होगा। भाजपा ध्रुवीकरण करती है जबकि दीदी लोगों के रोजी रोटी के लिए चिंतित है। हमारे यहां से केंद्र टैक्स वसूलती है व विकास योजनाओं के पैसे रोक देती है।

निर्मल घोष ने कहा कि खड़गपुर से हमने माफिया राज खत्म किया। इस अवसर पर प्रदीप सरकार, रविशंकर पांडे, कल्याणी घोष, अपूर्व घोष व अन्य उपस्थित थे। टीएमसी नेतृत्व मशाल जुलुस में शामिल हुए जो कि मलिंचा से निकलकर मंदिर तालाब श्मशान घाट में गौतम चौबे की बेदी के पास संपन्न हुआ। ज्ञात हो कि आज ही के दिन सन 2001 में मलिंचा में बदमाशों ने गोली मारकर सासंद पुत्र गौतम चौबे की हत्या कर दी थी।

 

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com