भारती ने मुख्यमंत्री पर कोरोना टेस्ट ना करवाने का लगाया आरोप कहा कोरोना से हुई मौत को छिपाया जा रहा है, स्वास्थय कर्मियों को पीपीई किट देने की मांग

585
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

खड़गपुर,17 अप्रैल। कोरोना को लेकर राज्य की मुख्यमंत्री अपनी नैतिक जिम्मेदारियां नही निभा रही है, लापरवाही बरत रही है यह कहना है पूर्व आईपीएस व भाजपा नेत्री भारती घोष का। भारती घोष ने शुक्रवार को वीडियो संदेश जारी कर उक्त आरोप लगाया। भारती का कहना है कि जिस तरह देश के दूसरे राज्यों में हर दिन ज्यादा से ज्यादा कोरोना का टेस्ट किया जा रहा है उस हिसाब से बंगाल में टेस्ट नहीं किया जा रहा है जिससे संक्रमित सामने नहीं आ पा रहे हैं उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में 27500 से ज्यादा टेस्टिंग किट ऐसे ही बेकार पड़े हैं उनका कोई इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है। राज्य में पहले जहां हर दिन 80 से 90 टेस्ट होते थे वहीं अब हर दिन मुश्किल से 9-10 ही टेस्ट कराएं जा रहे है। अगर अस्पतालों में 10 लोग कोरोना के लक्षण लिए आ रहे हैं तो उनमें से सिर्फ दो का टेस्ट किया जा रहा है।  कोरोना के आंकड़े को लेकर बंगाल सरकार लोगों को गुमराह कर रही है। वही कोरोना से मौत होने पर डाक्टरों को डेथ सर्टीफिकेट लिखने के बजाय रिपोर्ट स्वास्थ्य दफ्तर में बैठे एक्सपर्ट कमेटी के पास भेजी जा रही है व कमेटी तय कर रही है कि सर्टिफिकेट में कोरोना पाजिटिव लिखना है या नहीं।

उन्होंने कहा कि जिस तरह राज्य में लाकडाउन का उल्लंघन कर  राज्य सरकार ने कई मिठाई व फूल सहित अन्य दुकानें खोलने की अनुमति दे दी है इसका राज्य पर बहुत बुरा असर पड़ेगा। उन्होंने लोगों से घर में रहने की अपील करते हुए कहा कि बहुत ज्यादा जरूरी नहीं होने पर कृपया घर पर ही रहें क्योंकि लोगों के घर में रहने से ही वे सुरक्षित रहेंगे व लोगों के सुरक्षित रहने से उनका इलाका सुरक्षित रहेगा व।उन्होने कहा कि स्वास्थय कर्मियों को व डोम को भी पीपीई किट दिया जाए लोग अपनी जान को जोखिम में डाल काम कर रहे हैं।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com