बंगाल से पहले श्रमिक जाते थे अब आतंकी भी : दिलीप, आतंकी की गिरफ्तारी के बाद बंगाल सरकार को सांसद ने लिया आड़े हाथ

214
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

फिलहाल बंगाल से आतंकी अन्य राज्यों में भेजे जा रहे हैं राज्य से पहले श्रमिक बाहर जाते थे . रोजगार की तलाश में लेकिन अब हालात बदल गए है . राज्य में आतंकी के गिरफ्तारी के संदर्भ में राज्य सरकार पर आक्रमण और कटाक्ष करते हुए सांसद दिलीप घोष ने यह बात कही .
मंगलवार की सुबह की सैर के पश्चात सांसद दिलीप घोष चाय पे चर्चा के दौरान पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए खड़गपुर के बोगदा के समीप कहा ” एक वक्त था जब पश्चिम बंगाल से अन्य राज्यों में मजदूर रोजगार की खोज में जाते थे लेकिन आज माहौल पूरी तरह बदल गया है अब आज के नए माहौल में राज्य से आतंकी और दंगाई अन्य राज्यों में जा रहे है . बीते दो – ढाई सालों में दूसरे राज्यों के गैंगस्टर , अपराधी बंगाल में शरण ले रहे हैं . देखा जाय तो बंगाल एक तरह से इन आतंकी गतिविधि में लिप्त लोगों का ट्रेनिंग कैंप बन गया है . जहां दूसरे राज्यों में अमन-चैन कायम है.वहीं बंगाल में मार-दंगा,अग्निकांड,बमबाजी , कत्ल-खून बहुत ही आम बात हो गया है . बंगाल में अन्य राज्यों के अपराधी ,गैंगस्टर आकर छिप रहें हैं.आतंकियों का अड्डा बन गया है बंगाल . पंजाब के गैंगस्टर , गुजरात का सोना चोर , बंगलादेश और नेपाल बॉर्डर से आए घुसपैठिए सब बंगाल को ठिकाना बना रहे हैं . साथ-साथ अन्य अपराध तो है ही कुल मिला कर राज्य की हालत बहुत शोचनीय है . ऐसी परिस्थिति में पश्चिम बंगाल की जनता कहां जाय , कैसे शांति से रहे , यह एक मुश्किल सवाल हो गया है . राज्य की पुलिस अपराधों पर नियंत्रण करना छोड़ कर, भाजपा कर्मियों – नेताओं के पीछे लगने , फंसाने अथवा तृणमूल के नेता को बचाने में अपनी ऊर्जा लगा रहे हैं . ऐसे में मुख्य मंत्री ममता बैनर्जी खुद भ्रमित हो जा रही है और तय नही कर पा रही हैं कि सरकार बचाएं या कि नेता को बचाएं .

Advertisement
Advertisement

For Sending News, Photos & Any Queries Contact Us by Mobile or Whatsapp - 9434243363 //  Email us - raghusahu0gmail.com